Friday, August 17, 2012

एहसास

ख़ामोशी में वोह एहसास है जो लफ्सों में नहीं
 होठों पे बात हो और कोई कुछ न कहे
 फिर भी तुम्हे पता हो, उसे पता हो |

No comments: